Categories
Google News

गूगल पर चमकने को तैयार ये 20 बच्चे, विजेता को मिलेंगे सात लाख रुपए के अवार्ड

देश भर के हजारों स्कूलों से चुने गए 20 बच्चे अब गूगल पर चमकने के लिए तैयार हैं। डूडल 4 गूगल (doodle4google) प्रतियोगिता में चुने गए इन 20 स्कूली बच्चों की डूडल (क्रिएटिव आर्ट) जारी कर दी गई हैं। इनमें से पांच नेशनल फाइनेलिस्ट चुने जाएंगे, जिनमें से एक विजेता का डूडल 14 नवंबर को बाल दिवस के मौके पर गूगल के होम पेज पर लगाया जाएगा।

दरअसल गूगल इस प्रतियोगिता के जरिए बाल दिवस सेलिब्रेट करता है। इस साल का विषय है- जब मैं बड़ा हो जाऊंगा, मझे उम्मीद है, बच्चों को देश से अपनी उम्मीदें एक आर्ट के जरिए दर्शानी थी। इसके लिए वाटर कलर और ग्राफिक्स डिजाइन का भी इस्तेमाल किया गया। पहली से दसवीं तक दो-दो क्लास के पांच ग्रुप में बच्चों को बांट कर इस प्रतियोगिता को कराया गया।

अब हर ग्रुप से चार बच्चे यानि 20 डूडल पर ऑनलाइन वोटिंग चल रही है, जिसमे कोई भी वोट कर सकता है। 6 नवंबर तक चलने वाली वोटिंग के जरिए हर ग्रुप से एक फाइनेलिस्ट चुना जाएगा। इन पांच फाइनेलिस्ट से एक नेशनल विनर होगा। इसका चयन तीन जज करेंगे। फोटो में दिखाया गया डूडल पिछले साल के विजेता मुंबई के पिंग्ला राहुल मोरे का है।

विजेताओं को ये अवार्ड मिलेंगे

विजेता को पांच लाख रुपए की काॅलेज स्काॅलरशिप और दो लाख रुपए का टेक्नोलाॅजी पैकेज उसके स्कूल को दिया जाएगा। साथ ही उसे गूगल के ऑफिस की ट्रिप भी कराई जाएगीं। बाकी चार ग्रुप विनर को ढाई लाख रुपए की काॅलेज स्काॅलरशिप और एक लाख रुपए का टेक्नोलाॅजी पैकेज उनके स्कूल को दिया जाएगा।

पहली से दूसरी क्लास

  • जीएसएस श्रवन, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • दिव्यांशी सिंघल, डीपीएस, गुड़गांव
  • नेविषा थरेजा, जीडी गोयनका पब्लिक स्कूल, गुड़गांव
  • रूतवि रवि मंडालिया, डीपीएस भोपाल

तीसरी से चौथी क्लास

  • आरूषि अमित सावंत, चिल्ड्रन एकेडमी, मुंबई
  • एम. नंदाकिशोर, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • भवागन्या, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • भासवती बिशोई, केंद्रीय विद्यालय, भुवनेश्वर

पांचवीं से छठीं क्लास

  • दोतम शेट्टी धीरज, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • पोन्नाडा साई अक्षिता, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • अंकित भटृटाचार्य, दिल्ली पब्लिक स्कूल, कोलकाता
  • के. विनिल, हैदराबाद

सातवीं से आठवीं क्लास

  • वी. करण देव, केंद्रीय विद्यालय, बैंगलुरू
  • पी. विजय कुमार, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • सारा एलिसा जोगी, मुंबई
  • पी. साई लिखित, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम

नौवीं से दसवीं क्लास

  • एस. साई सात्विक, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • महिता मडाका, श्रीप्रकाश विद्या निकेतन, विशाखापट्नम
  • भूषण, मैंगलोर
  • पी. साई होमेश, हैदराबाद

Read More: Click Here

Categories
Google

कहां-कहा गए आप और क्या-क्या किया, सब जानता है गूगल, जानिए कैसे

वीडियो देखने के लिए क्लिक करे: Click Here

आजकल ज्यादातर लोग एंड्रॉयड स्मार्टफोन या फिर गूगल की कोई न कोई डिवाइस का यूज करते हैं। ऐसे में आप हमेशा गूगल की नजर में रहते हैं। जी हां, गूगल अपने यूजर्स की लगभग हर एक्टिविटी को ट्रैक करता है क्योंकि यूजर्स के पर्सनल डेटा की जानकारी रखता है। गूगल आपके बारे में यह सब जानता है कि आपने कब कौन सी वेबसाइट विजिट की और आपने ऑनलाइन क्या खरीददारी की।

इंटरनेट और वेब पर आप जो कुछ करते हैं वह गूगल इसें नोट कर लेता है। गूगल यूजर के फोन से लोकेशन हिस्ट्री के डेटा को ऐक्सेस कर लेता है। इस कारण गूगल को यह पता रहता है कि आप कौन सी तारीख को कितने बजे किस जगह पर थे। इतना ही नहीं बल्कि गूगल उन सभी डिवाइसेज के डेटा पर भी नजर रखता है जिनमें आपने गूगल अकाउंट से साइन इन किया है।

गूगल आपकी वॉइस और ऑडियो एक्टिविटी पर भी नजर रखता है। आप जो भी गूगल असिस्टेंट पर कमांड देते हैं उसे गूगल अपने पास स्टोर कर लेता है। गूगल असिस्टेंट से आप कुछ भी कहें वह उसे ट्रैक लेता है। आपके द्वारा प्ले किया जाने ऑडियो रिकॉर्डिंग भी गूगल ट्रैक और स्टोर करता है। वहीं, आपकी यूट्यूब सर्च हिस्ट्री और वॉच हिस्ट्री की सारी डीटेल गूगल के पास रहता है।

Download Full HD Video : Click Here

आपकी ऑनलाइन शॉपिंग पर भी गूगल की नजर रहती है। इतना ही नहीं बल्कि आप द्वारा की जाने वाली खरीददारी, हवाई टिकट, यात्रा, अपकमिंग बिल के साथ ही वह कई अन्य जरूरी निजी जानकारियां भी उसके पास रहती है।

वीडियो देखने के लिए क्लिक करे: Click Here